विधवा कल्याणकारी योजना – कम उम्र की विधवाओं का पुनर्वास और पुनर्विवाह

July 19, 2017 | Last Modified: November 13, 2017 at 1:54 pm | Category: सरकारी योजनाएं हिंदी में 2018-19

केंद्र सरकार ने कम उम्र की विधवाओं के लिए नई योजना बनाने की तैयारी की है | सुप्रीम कोर्ट ने देश की कम उम्र की विधवाओं के लिए पुनर्वास और पुनर्विवाह की व्यवस्था के लिए नई योजना और व्यवस्था के आदेश दिए है | कोर्ट के आदेश मुताबिक, सामाजिक बंधनों की परवाह न करते हुए कम उम्र की विधवाओं के पुनर्वास और पुनर्विवाह की योजना बनाने के लिए कहा गए है | कोर्ट द्वारा यह आदेश मंगलवार, 18 जुलाई, 2017 को जारी किया है |

सुप्रीम कोर्ट ने विधवा कल्याणकारी योजना के द्वारा पुनर्वास से पहले पुनर्विवाह को हिस्सा बनाने के लिए कहा | इसके साथ ही कोर्ट ने रोडमैप के लिए भी आदेश दिए है, कोर्ट ने कहा कि इसमें सफाई, पौष्टिक भोजन आदि में सुधार के लिए आदेश दिए है | कोर्ट ने कहा कि विधवा महिलाओं से बेहतर खाना जेल के कैदियों को मिलता है | जस्टिस मदन बी लोकुर और जस्टिस दीपक गुप्ता ने कहा कि पुनर्विवाह के बारे में कोई नहीं बात करता, विधवाओं के पुनर्विवाह की बात नहीं है जबकि इसे नीतियों का हिस्सा होना चाहिए |

कोर्ट द्वारा यह आदेश वृंदावन सहित अन्य शहरों में विधवा गृहों में कम उम्र की विधवाओं को लेकर किया गया है | कोर्ट ने कहा कि विधवाओं के लिए यह “राष्ट्रीय नीति 2001″ में बनाई गई थी, लिहाजा इसमें बदलाव की जरूरत है | इसके बाद सरकार से कोर्ट ने कहा कि आपको विधवा महिलाओं के लिए कुछ सोचना चाहिए। दरअसल देश में विधवा महिलाओं के कल्याण को लेकर सुप्रीम कोर्ट सुनवाई कर रही है। सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार को इसको लेकर चार हफ्ते में रोडमैप मांगा था |

Related Content