शुचिता योजना छत्तीसगढ़ – स्कूलों में बालिकाओं के लिए सेनेटरी नैपकिन वेंडिंग मशीन स्थापित

August 11, 2017 | Last Modified: August 11, 2017 at 11:38 am | Category: सरकारी योजनाएं हिंदी में 2018-19

छत्तीसगढ़ राज्य सरकार ने स्कूलों छात्राओं के लिए शुचिता योजना की शुरुआत की है। इस योजना का उद्देश्य स्कूली छात्राओं को स्वच्छता के लिए प्रेरित और जागरूक करना है। इस योजना के तहत स्कूलों में सेनेटरी नैपकिन वेंडिंग मशीन स्थापित की जाएगी। राज्य में इस योजना की शुरुआत बालिका दिवस 24 जनवरी, 2017 के दिन की गई। इस शुचिता योजना के तहत किशोरी बालिकाओं के व्यक्तिगत स्वच्छता में बगीचा ब्लॉक के 9 कन्या शासकीय स्कूलों में सेनेटरी नैपकीन वें डिंग मशीन और इंसीनेरेटर स्थापित किए गए हैं।

शुचिता योजना छत्तीसगढ़ 2017 :

छत्तीसगढ़ में शुचिता योजना की शुरुआत महिला एवं बाल विकास द्वारा की गई है। इस योजना के तहत स्कूलों में सेनेटरी नैपकिन वेंडिंग मशीन लगाई जाएंगी। इस योजना को शुरू करने का उद्देश्य यह है कि इस मासिक के दिनों लड़कियाँ स्कूल जाने में असहजता व कतराती है। इस योजना के द्वारा लड़कियों को  स्वच्छता के लिए प्रेरित और जागरूक किया जाएगा, जिसके तहत लड़कियों की स्कूल नहीं आने की प्रवृति भी कम होगी।

इस शुचिता योजना में राज्य के सभी स्कूलों में प्रथम चरण में 7200 नैपकिन निशुल्क प्रदान किये जाएंगे।  इस पहल से जहां बालिकाओं में आत्मविश्वास आएगा, वहीं स्वच्छता के प्रति वे जागरूक भी होंगी। श्रीमती राठिया ने बताया कि एकीकृत आदिवासी विकास परियोजना से 10 लाख रुपए की लागत से बगीचा के कन्या प्राथमिक शाला भवन में सेनेटरी नैपकिन निर्माण और प्रशिक्षण यूनिट स्थापित किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि बालिकाओं को सेनेटरी नैपकीन के उपयोग के महत्व के संबंध में परामर्श एवं सेनेटरी नैपकिन की आपूर्ति की व्यवस्था के लिए एक शिक्षिका की देखरेख में बालिकाओं की समिति भी स्कूलों में गठित की गई है। महिला चिकित्सक और विशेष परामर्शदाता भी चयनित किए गए हैं। जो प्रतिमाह इन स्कूलों में बालिकाओं को जानकारी देगें।

Related Content