पैनिक बटन योजना उत्तराखंड – किशोरियों के लिए निशुल्क महिला सुरक्षा बटन

September 13, 2018 | Last Modified: September 13, 2018 at 11:53 am | Category: Uttarakhand Government Schemes, सरकारी योजनाएं हिंदी में 2018-19

उत्तराखंड प्रदेश सरकार महिलाओं की सुरक्षा के लिए अब ‘पैनिक बटन’ योजना लागू करने की तैयारी ली है। योजना की शुरुआत आगामी 14 सितंबर को देहरादून में की जाएगी। इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत होंगे। इस बटन के जरिये 30 सेकंड में इससे पुलिस सहित अन्य लिंक नंबरों पर खतरे का संदेश चला जाएगा, जिससे पीड़ित महिला तक तुरंत सहायता पहुंचाई जा सकेगी।

महिला सुरक्षा बटन

बता दें कि इस योजना के तहत ‘महिला सुरक्षा बटन’ को मोबाइल ऐप से भी लिंक किया जा सकता है. इसे इंटरनेट व जीपीएस से लिंक किया जाएगा. इस बटन में 12 मोबाइल नंबर रजिस्टर्ड होंगे. यह नंबर परिजनों, मित्रों व अध्यापकों आदि किसी के भी हो सकते हैं. इस बटन को दबाने में तीन सेकंड लगेंगे. खतरा होने पर बटन दबाते ही 30 सेकंड के भीतर खतरे का संदेश सभी रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर चला जाएगा.

कार्यक्रम में मुख्यमंत्री मुख्य अतिथि रहेंगे. इस कार्यक्रम में देहरादून और हरिद्वार की 100 महिलाओं और किशोरियों को सुरक्षा बटन निशुल्क बांटे जाएंगे. अभी इस सुरक्षा बटन की कीमत 2360 रुपये है. महिला कल्याण और बाल विकास निदेशालय इसे इसी कीमत पर ख़रीदेगा. हालांकि विभाग ने सुरक्षा किट के रूप में उपरोक्त बटन पर सब्सिडी दिए जाने का प्रस्ताव भारत सरकार को भेजा है. भारत सरकार से सब्सिडी प्राप्त होने के बाद इस बटन की कीमत 860 रुपये होगी.

सरकार की योजना 14 सितंबर से इस योजना को पायलेट प्रोजेक्ट के रूप में शुरू करने की है। आर्या ने बताया कि 14 सितम्बर को आईआरटीडी सभागार, सर्वे चैक, देहरादून में ‘महिला सुरक्षा बटन’ के शुभारम्भ किये जाने विषय पर चर्चा की गई है। 14 सितम्बर को जनपद देहरादून एवं जनपद हरिद्वार की 100 महिलाओं एवं किशोरियों को उपरोक्त सुरक्षा बटन निःशुल्क वितरित किये जायेंगे।

पैनिक बटन योजना उत्तराखंड

ऐसे काम करेगा बटन
पैनिक बटन को मोबाइल एप से भी लिंक किया जा सकता है। इसे कीरिंग, ब्रैसलेट अथवा अन्य किसी रूप में महिलाएं अपने पास रख सकती हैं। यह डिवाइस इंटरनेट व जीपीएस से लिंक रहेगी, जिसमें 12 मोबाइल नंबर रजिस्टर्ड होंगे। यह नंबर परिजनों, मित्रों व अध्यापकों आदि किसी के भी हो सकते हैं। इस बटन को दबाने में तीन सेकंड लगेंगे। खतरा होने पर बटन दबाते ही 30 सेकंड के भीतर खतरे का संदेश सभी रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर चला जाएगा।

सरकार इसे सब्सिडी के तहत सस्ती दरों पर महिलाओं को उपलब्ध कराएगी। इसके लिए अलग-अलग श्रेणियां बनाई जाएंगी। इनमें कामगार महिलाओं, ग्रामीण महिलाओं, छात्राओं और घरों में काम करने वाली महिलाओं को शामिल किया जाएगा। उन्होंने कहा कि सबके काम के अनुसार इसकी कीमत अलग-अलग रखी जाएगी।

बुधवार को विधानसभा में महिला कल्याण एवं बाल विकास राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) रेखा आर्य ने पैनिक बटन योजना के संबंध में बैठक ली। आर्य ने कहा कि महिला सुरक्षा के लिए यह बेहद अहम योजना है। इस बटन में पुलिस कंट्रोल रूम और महिला हेल्प लाइन के नंबर भी रहेंगे। उन्होंने कहा कि अभी बाजार में इस बटन की कीमत 2360 रुपये है। भारत सरकार से सब्सिडी प्राप्त होने के उपरांत उपरोक्त बटन की कीमत 860 होगी।

Related Content