कोर पीडीएस-मेरी मर्जी योजना छत्तीसगढ़

June 30, 2017 | Last Modified: June 30, 2017 at 4:01 pm | Category: सरकारी योजनाएं हिंदी में 2018-19

कोर पीडीएस-मेरी मर्जी योजना सरकारी दुकानों में जुलाई, 2017 से शुरू की जाएगी | यह योजना छत्तीसगढ़ की 23 शासकीय उचित मूल्य दुकानों में लागू की जाएगी | इस योजना के तहत जो हितग्रहित आधार कार्ड नंबर उचित मूल्य की दुकानों में जमा नहीं करेंगे, वह राशन सामग्री प्राप्त करने के पात्र नहीं होंगे | यह योजना राज्य में भ्रष्टचार को कम करने के उद्देश्य से शुरू की जाएगी |

छत्तीसगढ़ में कोर पीडीएस-मेरी मर्जी योजना के अंतर्गत 1 जुलाई, 2017 से बिना आधार कार्ड के उचित मूल्य दुकानों से राशन प्राप्त नहीं कर पायेंगे | खुद खाद्य विभाग के संचालक के अनुसार, यदि कोई कार्डधारी अपना आधार लिंक नहीं करवाता है तो वह राशन लेने के पात्र नहीं होगा | यह योजना राज्य के शहर के 66 वार्डों के 100 दुकानों में कोर पीडीएस लागू हो जायेगी।

राज्य सरकार ने आधार कार्ड नहीं होने वाले उपभोग्ताओ के लिए दुकानदारो को एंड्रायड टेबलेट उपलब्ध करवाएगी, जिससे उपभोगता की फोटो खींचकर राशन दे दिया जाएगा और उन्हें आधार कार्ड से राशन कार्ड को लिंक करने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा |

कोर पीडीएस मेरी मर्जी योजना के अंतर्गत दुकानदारों को ट्रेनिंग भी दी गई है | संचालको ने इस ट्रेनिंग में पावर पाइंट प्रेजेन्टेशन के माध्यम से दुकान संचालकों को एप्लीकेशन क्या है, यह कैसे काम करेगा, आधार प्रमाणीकरण कैसे करें, प्रमाणीकरण के समय किन बातों का ध्यान रखें, सफलता कैसे मिले आदि को लेकर प्रशिक्षण दिया |

छत्तीसगढ़ में इस योजना के तहत “PDS मोबाइल ऐप्प” भी जारी किया जाएगा | जिसके तहत राशन कार्ड व कोर पीडीएस मेरी मर्जी योजना से जुडी सभी जनक्रिया लिखित होगी | इस ऐप्प की मदद से उपभोक्ताओं को ऑनलाइन सुविधाएँ दी जाएंगी | जिसकी ट्रेनिंग भी दुकानदारों को दिया है | यह PDS मोबाइल ऐप्प छत्तीसगढ़ के साथ कई राज्यों में शुरू की जा चुकी है |

Related Content