छत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना 2017-18 – दिव्यांग विद्यार्थियों के लिए

December 6, 2017 | Last Modified: December 6, 2017 at 12:59 pm | Category: सरकारी योजनाएं हिंदी में 2018-19

छत्तीसगढ़ राज्य सरकार ने बिलासपुर में मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना के तहत दिव्यांग विद्यार्थियों को लाभार्थी बनाया जाएगा। योजना के तहत 9वीं से 12वीं तक के दिव्यांग विद्यार्थियों को पात्र बनाया जाएगा। इस योजना का लाभ लेने के लिए आवेदन करना होगा। इस दिव्यांग तीर्थ यात्रा योजना के तहत यात्रा दिसंबर, 2017 से शुरू किया जाएगा।

मुख्यमंत्री तीर्थयात्रा योजना के तहत तीर्थयात्रियों के लिए बेहतर से बेहतर व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। बैठक में बताया गया कि मुख्यमंत्री तीर्थयात्रा योजना के तहत कांकेरए कोण्डागांव और नारायणपुर जिले के 1000 तीर्थ यात्रियों का दल प्रयाग-काशी और विश्वनाथ मंदिर तीर्थ स्थलों की यात्रा करेंगा।

एक भारत श्रेष्ठ भारत कार्यक्रम के तहत दिव्यांगजनों के लिए भी तीर्थयात्रा वर्ष 2014-15 से शुरू की गयी है। अब तक 04 हजार 593 दिव्यांगजनों के लिए पांच तीर्थ यात्राएं करायी जा चुकी है। तीर्थ यात्रियों के लिए स्वास्थ्य दल, सुरक्षा बल, यात्रियों के मनोरंजन के लिए संगीत कलाकारों का दल भी जाएगा। यात्रियों के लिए उनके खाने-पीने की व्यवस्था के साथ ही यात्रा के दौरान उनके ठहरने एवं बस की व्यवस्था आई.आर.सी.टी.सी. द्वारा की जा रही है।

मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना 2017-18 : इस दिव्यांग तीर्थ यात्रा योजना के तहत 06 दिसम्बर से 10 दिसम्बर तक आयोजित की गयी है। इस दल में कांकेर जिले से 532ए कोंडागांव जिले से 379 और नारायणपुर जिले से 89 तीर्थ यात्री शामिल हैं। इस योजना के तहत 06 दिसम्बर को रायपुर स्टेशन से दोपहर 01 बजे यात्री ट्रेन को हरी झण्डी देकर रवाना किया जाएगा।

योजना के तहत अब तक 04 हजार 593 दिव्यांगजनों के लिए पांच तीर्थ यात्राएं करायी जा चुकी है। दिव्यांगजनों को के लिए आगामी 25 दिसम्बर को तीर्थयात्रा की तैयारी की जा रही है। जिसमें रायपुर जिले से 355बिलासपुर जिले से 183 राजनांदगांव जिले से 122 धमतरी जिले से 102 दुर्ग जिले से 82,बस्तर जिले से 61,कोरबा जिले से 51,दंतेवाड़ा जिले 23 और सरगुजा जिले से 21 दिव्यांग छात्र -छात्राएं द्वारिका, सोमनाथ और नागेश्वर की यात्रा पर जाएंगे।

मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना के तहत 224 यात्राएं करायी जा चुकी हैं, जिनमें 02 लाख 02 हजार 167 बुजुर्गों और दिव्यांगजनों को तीर्थयात्रा करायी जा चुकी है। समाज कल्याण विभाग द्वारा आगामी 15 दिसंबर से 18 दिसम्बर तक दुर्ग बेमेतरा और बालोद जिलों के 1000 तीर्थ यात्री जगन्नाथ पुरीए भुवनेश्वर और कोणार्क की यात्रा करेंगे इस दल में दुर्ग जिले के 571,बालोद जिले के 241 और बेमेतरा जिले के 188 यात्री शामिल हैं। इसी प्रकार 05 जनवरी 2018 से 08 जनवरी 2018 तक कोरिया जिले के 229,सूरजपुर जिले के 252, बलरामपुर जिले के 230 और सरगुजा जिले के 289 यात्री उज्जैन, ओंकारेश्वर और महाकालेश्वर की यात्रा पर जायेंगे।

16 जनवरी 2018 से कोरबा 18 जनवरी 2018 तक जांजगीर चाम्पा से 566 और कोरबा से 434 तीर्थयात्री बाबा वैद्यनाथ, बजरंगबली मंदिर और अनुकूल ठाकुर जी के सत्संग मंदिर की यात्रा पर जाएंगे। 22 जनवरी 2018 से कोरबा 25 जनवरी 2018 तक रायपुर के 653 और बलौदाबाजार के 347 यात्री गंगा सागर एबिरला मंदिर और कालीघाट मंदिर, 07 फरवरी से कोरबा 02 फरवरी 2018 तक महासमुंद के 414एगरियाबंद के 246 और धमतरी के 340 यात्री शिर्डीए शनि सिंगनापुर और त्रयम्बकेश्वर की यात्रा पर,16 फरवरी 2018 से कोरबा 19 फरवरी 2018 तक बस्तर के 505,दंतेवाड़ा के 170, बीजापुर के 166 और सुकमा के 159 तीर्थ यात्री उज्जैन, ओंकारेश्वर और महाकालेश्वर की यात्रा पर जायेंगे, इसके बाद 22 फरवरी 2018 से कोरबा 27 फरवरी 2018 तक बिलासपुर से 766 और मुंगेली से 234 यात्रियों का दल द्वारिका, सोमनाथ और नागेश्वर की यात्रा पर रवाना होगा।

मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना में आवेदन हेतु सम्पर्क :

तीर्थ यात्रियों के लिए श्री एम.एल. खापर्डे, प्रभारी समाज शिक्षा संगठक जनपद पंचायत नरहरपुर जिला कांकेर एवं संतोष कौशिक प्रभारी समाज शिक्षा संगठक जनपद पंचायत कांकेर जिला कांकेर को एस्कार्ट नियुक्त किया गया है। इस योजना के तहत मोबाईल नम्बर-9425516187 पर सम्पर्क कर सकते है।

Related Content