छत्तीसगढ़ में शराबबंदी के लिए महिलाओं का जन-जागरण अभियान

January 23, 2017 | Last Modified: November 13, 2017 at 1:46 pm | Category: Sarkari Yojana 2018-19

छत्तीसगढ़ में महिलाओ ने मिलकर शराबबंदी के लिए जन-जागरण अभियान की शुरुवात की है. इस अभियान में राज्य की महिलाओं की भारत माता वाहिनी और महिला कमांडो की पांच हजार सदस्य महिलाओं द्वारा चलाया गया है. इस अभियान के लिए मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह का महिलाओं को सरकार का पूर्ण समर्थन और हर संभव सहयोग मिलेगा.
मुख्यमंत्री ने कहा कि, पांच हजार महिला कमांडो को निःशुल्क यूनिफार्म और सीटी दी जाएगी.

कुसुमकसा में आयोजित विशाल जनसभा:-

  • आज मुख्यमंत्री ने कुसुमकसा के सरकारी हायर सेकेण्डरी स्कूल के स्वर्ण जयंती समारोह में हिस्सा लिया. इस समारोह में मुख्यमंत्री जी ने कुछ नई योजनाओ का आरंभ किया.
  • इस अवसर पर मुख्यमंत्री जी ने विधवा और परित्यक्त महिलाओं को सिलाई-बुनाई के साथ-साथ विभिन्न रोजगार प्रशिक्षण देने के लिए 10 नये ‘रौशनी केन्द्रों’ का भी शुभारंभ किया.
  • इस समारोह में मुख्यमंत्री जी ने राज्य के विकास के लिए 19 करोड़ 20 लाख रूपए के विभिन्न निर्माण कार्यों का उद्घाटन, भूमिपूजन और शिलान्यास किया.
  • मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत राज्य के गरीब परिवारों की ग्यारह हजार महिलाओं को निःशुल्क रसोई गैस कनेक्शन प्रदान किये, इसके साथ डबल बर्नर चूल्हा और पहला सिलेण्डर बांटने की भी शुरूआत की गई.
  • पांच हजार किसानों के लिए मृदा (मिट्टी) स्वास्थ्य कार्ड वितरण कार्य का भी शुभारंभ किया और कई किसानों को मृदा स्वास्थ्य कार्ड दिए.
  • पांच किसानों को सौर सुजला योजना के तहत सोलर सिंचाई पम्पों का वितरण किया.
  • निःशक्तजन विवाह प्रोत्साहन योजना, मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना के लाभार्थियो को चेक और प्रधानमंत्री आवास योजना के लाभार्थियो को स्वीकृति पत्र भी प्रदान किए.
  • रौशनी केन्द्रों:-

    महिला के रोजगार के लिए राज्य सरकार ने 10 नए ‘रौशनी केन्द्रों’ कि स्थापना कि है. यह रौशनी केन्द्र ग्राम नालाकसा, कुमुरकट्टा, बेताल, अर्जुनी, सम्बलपुर, घुमका, अरमरीकला, कालंगपुर, देवरी और रेंगाडबरी में शुरू किए गए है, बहुत जल्द इन रौशनी केन्द्रों कि की संख्या 22 हो जाएगी.

    Related Content